2 बहुत सुंदर कहानी है, हिंदी कहानियां,2 very beautiful story, Hindi stories

आलसी कौआ की कहानी-

बहुत समय पहले की बात है। एक कौए और गिलहरी में अच्छी मित्रता थी । लेकिन कौआ जहां बेहद आलसी था , वहीं गिलहरी तेज और फुर्तीली थी। एक दिन दोनों ने तय किया कि क्यों न कुछ खेती की जाए ।

दोनों का विचार था कि हम दोनों मिलकर खेतों में खूब मेहनत करेंगे और अच्छी-अच्छी फसल उगाएंगे। दोनों ने मिलकर खेत में फसल लगाएं और अच्छी फसल भी उग गई। कुछ दिन बाद गिलहरी ने खेतों में कौए को पानी देने को कहा । कौआ बोला , ” अभी तुम जाओ , मैं थोड़ी देर में आता हूं ।

” बेचारी गिलहरी ने खेतों में पानी दिया और कौआ यूं ही पड़ा सुस्ताता रहा । दो – तीन माह बाद जब फसल पक गई तो गिलहरी ने कौए से कहा , ” चलो , फसल काटने में मेरी सहायता करो । तो कौए ने बोला चलो मैं आता हूं। ” गिलहरी बुलाकर खेतों में चली गईं।

चूंकि गिलहरी मेहनती और ईमानदार थी , अतः उसने फसल काटी और उसके दो हिस्से कर दियें। लेकिन कौए ने आलसी के मारे खेतों में नहीं गया। तो गिलहरी ने एक हिस्सा उसने वहीं खेत में छोड़ दिया। और दूसरे हिस्से को बैलगाड़ी में लादकर गोदाम में ले जाकर रख दिया ।

उधर कौआ पहले की तरह सुस्त पड़ा रहा । वर्षा ऋतु आ पहुंची थी । फिर एक दिन कौए ने सोचा कि क्यों न खेतों में जाकर अपने हिस्से की फसल ले आऊं । जैसे ही वह जाने को तैयार हुआ कि वर्षा होने लगी । तेज बरसात में खेतों में रखी कौए की फसल बह गई , आलसी कौए के हाथ कुछ न लगा । जबकि उसे उगाने में उसने तनिक भी श्रम नहीं किया था , फिर भी उसे अपने आलसी स्वभाव के कारण दाना भी न मिल पाया ।

नैतिक शिक्षा

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हम जो मन से मेहनत करते हैं उसका परिणाम अवश्य दिखाई देता हैं। आलसी लोग आज करेंगे कल करेंगे कभी नहीं कर पाते हैं।

• हिंदी कहानियां,Hindi stories, Educationhindime

• 2 प्रेरणादायक कहानियां, हिंदी कहानी, 2 inspirational stories, Hindi story,

2. अति हर चीज की बुरी ही होती है बहुत एक अच्छी कहानी ,Everything is bad, very good story.

एक गांव में एक पेड़ पर एक बंदर रहता था । जब भी उसे भूख लगती थी। , वह गांव में जाता था। और छोटे बच्चों के हाथ से खाने की चीजें झपट लेता था । कभी – कभी तो वह किसी घर की रसोई में घुस जाता था और सारी चीजें इधर उधर कर देता था। वहां उसे जो भी अच्छा खाने को मिलता था। वह उसे , उठा लेता था। और दीवार की मुंडेर पर बैठकर आराम से खाता था ।

कुछ अनुभवी बंदरों ने उसे मना भी किया कि ऐसा करना ठीक नहीं है । बाकी बंदर भूख लगने पर पेड़ में लगने वाले फल – फूल खाकर अपना पेट भरते थे । लेकिन नटखट बंदर ने अपने साथियों की बात पर ध्यान नहीं दिया ।

एक दिन की बात है … उस नटखट बंदर को जोरों से भूख लग रही थी । वह एक घर में जा घुसा , लेकिन वहां उसे खाने को कुछ न मिला । तभी उसने देखा कि बहुत सारे कपड़े धूप में सूख रहे हैं । तो उसने रस्सी पर लटकी एक कमीज उतारी और लगा शोर मचाने । तो घर के लोग बाहर आएं तो देखा कमीज हाथ में लिए बंदर कूद रहा है। तो उन्होंने रोटी का

एक टुकड़ा उसकी तरफ फेंका , बंदर उसे उठाकर ले गया और कमीज को वहीं छोड़ गया । बंदर खुश था कि खाना पाने का कितना आसान तरीका हाथ लग गया । अंगले दिन वह एक घर की छत पर जा बैठा ।

वहां गेहूं से भरा संकरे मुंह वाला एक घड़ा रखा था , वह उसमें से गेहूं निकालकर खाने लगा । तभी उसने सोचा कि कोई आ गया तो क्या होगा ? यही सोचकर उसने संकरे मुंह वाले घड़े में हाथ डाला और हथेली में गेहूं भर लिए । लेकिन जब उसने हाथ बाहर निकालना चाहा , तो नहीं निकला ।

वह घड़े के संकरे मुंह में फंस गया था । नटखट बंदर मुट्ठी में भरे गेहूं का लालच भी नहीं छोड़ पा रहा था और न ही वहां से भागने की स्थिति में था ।

तभी कुछ लोग छत पर आ गए और बंदर को पकड़कर एक रस्सी में बांध दिया । कुछ सयाने बंदरों की नज़र जब उस बंदर पर पड़ी तो वे बोले , अगर इसने हमारी सलाह मान ली होती तो आज यह नौबत नहीं आती । ” वह नटखट बंदर भी अपने लालच पर पछता रहा था कि क्यों नहीं बड़ों की सलाह मानी । .

नैतिक शिक्षा

दोस्तों इस कहानी से हमें यह ज्ञान मिलती है कि हम कोई काम करने से पहले एक बार अवश्य सोच ले कि इसका नतीजा क्या होगा। और बड़ी बात बड़ों की बात न ठोकरायें और उनकी बातों पर अमल करें और उनकी बातों को समझें कि इस बातों में क्या है तब अपने विचार दें

धन्यवाद्।

• हिंदी कहानियां Hindi stories motivational story

• हिंदी कहानियां, प्रेरणादायक कहानी Hindi stories, inspirational story.

यदि आपके पास कोई हिंदी कहानी या आपकी मोटिवेशनल सोच जो आप शेयर करना चाहते हैं जो आपको लगता है कि इसे शेयर करना चाहिए। तो  इस Website पर आप अपनी एक फोटो के साथ शेयर कर सकते हैं। E-mail करें। id है- ekahaniyan1234@gmail.com पसंद आने पर आपके नाम और आपकी फोटो के साथ प्रकाशित की जाएगी।

धन्यवाद्

Youtube: Hindi kahaniyan

 

Educationhindime Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!