हिंदी कहानियां,Hindi stories, Educationhindime

बहुत समय पहले कि बात है,। रामपुर गाँव में किशन नाम का एक गरीब लकड़हारा रहता था,। वह दूसरो की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता था,। जीवों के प्रति उसके मन में बहुत दया रहतीं थी, । एक दिन वह जंगल में लकड़ी काट कर इकट्ठा कर दिया, और इकट्ठा करते-करते वह थक गया था,। तो थोड़ी देर सुस्ताने के लिए एक पेड़ के नीचे बैठ गया,।

  1.  तभी उसे सामने के पेड़ से पक्षियों के बच्चों के ज़ोर – ज़ोर से ची – चीं करने की आवाज़ सुनाई दी । उसने सामने देखा तो डर गया । एक सांप घोसले में बैठे चिड़िया के बच्चों की तरफ बढ़ रहा था ।

बच्चे उसी के डर से चिल्ला रहे थे । किशन उन्हें बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ने लगा। तो सांप ने किशन को देख कर डर के मारे पेड़ से नीचे उतरने लगा । उसी दौरान सभी चिड़िया भी वापस अपने घोंसले कि तरफ़ लौट रहे थे।

सब चिड़िया ने जब किशन को पेड़ पर देखा तो समझा कि किशन ही बच्चों को मारने पेड़ पर चढ़ा था तो चिड़िया ने किशन को चोच मार – मारकर चिल्लाने लगी ।

चिड़ियों कि आवाज़ से और सारी चिड़िया भी आ गईं । सभी ने किशन पर हमला कर दिया । बेचारा किशन किसी तरह पेड़ से नीचे उतरा । चिड़िया जब घोसले में गई तो उसके बच्चे सुरक्षित बैठे थे । बच्चों ने चिड़िया को सारी बात बताई तो उसे अपनी गलती का एहसास हुआ । वह किशन से माफी मांगना चाहती थी और उसका शुक्रिया अदा करना चाहती थी ।

चिड़ियों ने कुछ दिन पहले दाना ढूंढ़ने गये थे। तों चिड़ियों को एक कीमती हीरा मिला था । उसने हीरे को अपने घोसले में लाकर रख लिया था । चिड़िया ने वह हीरा किशन के आगे गिरा दिया और एक डाली पर बैठकर अपनी भाषा में धन्यवाद करने लगी । किशन ने हीरा उठा लिया और चिड़िया की तरफ हाथ जोड़कर उनको धन्यवाद किया और वहां से चल दिया ।

तभी कई चिड़िया आईं और उसके ऊपर उड़कर साथ चलने लगीं मानो वे उसका आभार करते हुए विदा करने आई हों । किसी भी जीव पर किये गये उपकार का फल सदैव ही सकारात्मक नतीजे के रूप में वापस मिलता है

धन्यवाद

Youtube channel.

यदि आपके पास कोई हिंदी कहानी या आपकी मोटिवेशनल सोच जो आप शेयर करना चाहते हैं जो आपको लगता है कि इसे शेयर करना चाहिए। तो इस Website पर आप अपनी एक फोटो के साथ शेयर कर सकते हैं। E-mail करें। id है- ekahaniyan1234@gmail.com पसंद आने पर आपके नाम और आपकी फोटो के साथ प्रकाशित की जाएगी।

धन्यवाद

 

Educationhindime Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!