नाई और भगवान बहुत एक अच्छी कहानी,Barber and god very good story

नाई और भगवान बहुत एक अच्छी कहानी,

एक आदमी नाई की दुकान पर अपने बाल कटवाने के लिए गया तभी बाल कटवाते समय उन दोनों के बीच कुछ बातें शुरू हो गयी और वो दोनों ही बातें करतें करतें भगवान के बारें में बात करने लग गए तभी नाई ने कहा कि में भगवान के अस्तित्व को नहीं मानता और इस दुनियां में कोई भगवान नहीं हैं

तभी उस आदमी ने नाई से पूछा कि तुम भगवान के बारें में ऐसा क्यूँ कह रहे हो तो नाई में कहा कि भाई हमारी दुकान के सामने मंदिर के बाहर जब तुम जाओगे तो तुम सब समझ जाओगे कि भगवान का अस्तित्व हैं ही नहीं और भगवान का नाम भी एक झूठ हैं क्योंकि अगर भगवान होतें

तो इस दुनियां में इतने लोग कभी भूखें नहीं मरतें और न ही इतने लोग इन बड़ी बड़ी बीमारियों से तड़प कर मरतें इसलिए भाई में कभी भी भगवान के अस्तित्व को नहीं मानता … तभी उस आदमी को नाई की ऐसी बातें सुनकर बड़ा ही दुःख हुआ लेकिन वो उससे किसी भी बात पर बहस करना नहीं चाहता था

और वैसे भी वो उसे किसी भी तरह से समझा नहीं पाता तभी वो आदमी बाल कटवा कर उस नाई की दुकान से बाहर आता है और जब वो आदमी नाई की दुकान से खड़ा होकर उस मंदिर की तरफ देखता हैं तो वहाँ मंदिर के बाहर बहुत सारे गरीब लोग थें बैठे हुए

और उन गरीबों में एक गरीब व्यक्ति की दाढ़ी और बाल बहुत ही ज्यादा बड़े थे तभी वो आदमी वापस उस नाई की दुकान में जाकर उस नाई से बोला

कि तुम्हें पता हैं …. किसी भी बाल काटने वाले नाई का कोई भी अस्तित्त्व नहीं होता बल्कि नाई तो होतें ही नहीं हैं तभी वो नाई बड़ा ही गुस्सा होकर बोला अरें मेरा अस्तित्व क्यों नहीं हैं क्या मैं तुम्हें दिखाई नहीं दे रहा मैं तो तुम्हारे सामने ही खड़ा हूँ और अभी अभी मैंने तुम्हारे भी तो बाल काटें हैं

तो उस आदमी ने कहा कि नहीं भाई नाई नहीं होतें अगर वो होते तो क्या मंदिर के बाहर वो लम्बी दाढ़ी और लम्बे बाल वाला आदमी होता। तो नाई ने कहा कि भाई जब कोई व्यक्ति अपने बाल कटवाने किसी नाई के पास जाएगा ही नहीं तो नाई उसके बाल कैसे काटेगा तभी उस आदमी ने नाई से कहा

कि वो आदमी तुम्हारे पास बाल कटवाने नहीं आएगा तो क्या तुम उसके बाल काटने उसके पास नहीं जा सकतें आखिर वो एक गरीब आदमी हैं। तो उस नाई ने बहुत ही गुस्सा होकर कहा कि इस दुनियां में तो बहुत सारे गरीब हैं तो क्या मैं सबके पास बाल काटने जाता रहूँगा और वो भी बिना पैसों के

तो उस आदमी ने नाई से बड़ी ही प्यार से कहा कि जिस तरह तुम किसी भी अन्य व्यक्ति की बिना दुकान में आये बाल नहीं काट सकतें ठीक उसी तरह भगवान भी होते हैं..लेकिन कुछ लोग उन पर बिल्कुल विश्वास और श्रद्धा नहीं रखतें तो इसीलिए भगवान भी उनकी सहायता नहीं कर पाता क्योंकि उनके भी

कुछ नियम होतें हैं और हाँ भाई चाहें तुम्हारें या हमारे जैसों का अस्तित्व हैं और हमारे पास चाहें कितना भी पैसा है मगर हम किसी गरीब की। सहायता बिल्कुल भी नहीं करतें और हम उनकी सहायता क्यों नहीं करतें क्या इसका जवाब हैं आपके पास मेरे ख्याल से आप तो किसी गरीब को

अपनी दुकान के आगे बैठने भी नहीं देतें होंगें इतना सुनते ही उस नाई में शर्म के मारे अपना सर नीचे झुका लिया तभी उस आदमी ने नाई से कहा। कि भाई मेरी बात का बिल्कुल भी बुरा मत मानना लेकिन हम अगर किसी के बारे में अच्छा नहीं कह सकतें तो हमें उसके बारें में बुरा भी

कभी नहीं कहना चाहिए …. तो दोस्तों …. अगर आप सच्चे मन से उस ईश्वर को दिल से याद करेंगें तो वो आपका और आपके परिवार का हमेशा ध्यान रखेगा..धन्यवाद।

• 2 हिंदी कहानियां

• Motivational कहानी

यदि आपके पास कोई हिंदी कहानी या आपकी मोटिवेशनल सोच जो आप शेयर करना चाहते हैं जो आपको लगता है कि इसे शेयर करना चाहिए। तो इस Website पर आप अपनी एक फोटो के साथ शेयर कर सकते हैं। E-mail करें। id है- ekahaniyan1234@gmail.com पसंद आने पर आपके नाम और आपकी फोटो के साथ प्रकाशित की जाएगी।

धन्यवाद

Leave a Comment

error: Content is protected !!